Maintenance

छत्तीसगढ़ राज्य में प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना का संपादन छत्तीसगढ़ ग्रामीण सड़क विकास अभिकरण अंतर्गत संपादित किया जा रहा है। इसके अंतर्गत जुलाई’2016 तक कुल 6300 सड़कें, 26,549 कि.मी. लंबाई का निर्माण कार्य पूर्ण किया गया। ग्रामीण सड़कों का परिसंपत्ति मूल्य ृण्15,337 करोड़ है। इस निर्मित परिसंपत्ति को सुरक्षित रखने हेतु निरंतर संधारण आवश्यक है। समय पर संधारण न करने पर निर्मित परिसंपत्तियों का मूल्य ह्रास तेजी से बढ़ता है तथा शासन को उसके संधारण पर अतिरिक्त व्यय भारित होता है। सड़कों के संधारण हेतु ग्रामीण मार्गों के लिए संधारण नीति 2015 लागू है।

संधारण नीति के मुख्य बिन्दु निम्नानुसार है -

  • IRC के प्रावधान अनुसार अन्य जिला मार्ग (ODR) एवं ग्रामीण मार्ग (VR) को ग्रामीण मार्ग माना गया है।
  • संधारण के लिए ग्रामीण सड़क नेटवर्क का डाटाबेस तैयार कर संधारित करना।
  • प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना के सड़कों के निर्माण के अनुबंध में निर्माण उपरांत पांच वर्षों का संधारण का उत्तरदायित्व अनुबंधित ठेकेदार का है।
  • निर्माण के पांच वर्ष उपरांत मार्गों का संधारण संतोषप्रद होने पर विभाग द्वारा आधिपत्य में लिया जाना है एवं उसका संधारण विभाग द्वारा संपादित होगा।
  • उपलब्ध सड़क संपत्ति में Road Condition Index एवं मार्ग के उपयोगिता के अनुरूप वार्षिक संधारण योजना तैयार करना।
  • बजट में संधारण कार्यों के लिए विशिष्ट एवं पृथक प्रावधान करना।
  • संधारण के कार्यां की सतत् समीक्षा एवं मूल्यांकन करना।
  • संधारण कार्यों का वर्गीकरण निम्नानुसार किया गया है -
    • सामान्य संधारण/नियमित - संधारण प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना का Operation Manual के Chapter 14 अनुसार सामान्य संधारण कराया जाना।
    • नियतकालीन संधारण (Periodical Maintenance ) इसके अंतर्गत Periodical तथा नवीनीकरण का कार्य।
    • विशेष आपातकालीन मरम्मत - प्राकृतिक आपदा अथवा आकस्मिक घटना के कारण संधारण।
    • उन्नयन - सड़क की चौडाई बढ़ाया जाना, Crust में परिवर्तन अथवा पुल-पुलिया का सुढृणीकरण एवं पूर्ननिर्माण।
  • ग्रामीण सड़कों में अतिक्रमण हटाने हेतु राज्य अनुभाग स्तर पर समिति बनायी जावेगी।
  • ग्रामीण मार्गों का संपूर्ण Database तैयार करना।
  • Road Register का संधारण करना।
  • वित्तीय संशाधनों का समुचित उपयोग करने हेतु मार्गों की स्थिति, Road Index एवं यातायात धनत्व को ध्यान में रखते हुए संधारण की योजना बनायी जावे। योजना की सूची जिला पंचायत से अनुमोदन पश्चात् बजट उपलब्धता अनुसार नवीनीकरण/ संधारण का कार्य संपादन करना।
  • नवीन तकनीकी अनुसंधान एवं कार्य प्रणाली में पारंगत हेतु प्रशिक्षण का प्रावधान करना।
  • अन्य प्रदेश एवं अन्य देशों में संधारण प्रणाली के प्रशिक्षण कार्यक्रम करना।
  • ठेकेदार एवं उनके कर्मचारियों को प्रशिक्षण देकर दक्षता बढ़ाना।
  • ग्रामवासियों को सड़क संधारण का प्रशिक्षण एवं संधारण हेतु उत्प्रेरित करना।

संधारण की स्थिति


  • प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना अंतर्गत कुल 6300 सड़कें, लंबाई 26,549 कि.मी. का कार्य पूर्ण किया गया, जिसमें से 5 वर्ष संधारण अवधि अंतर्गत 2373 सड़कें, लंबाई 8728 कि.मी. है। 5 वर्ष संधारण अवधि पूर्ण नवीनीकरण की पात्र 3927 सड़कें, लंबाई 17,821 कि.मी. है।
  • जूलाई 2016 तक 1818 सड़कें, लंबाई 8464 कि.मी. नवीनीकरण हेतु स्वीकृत की गई है। जिसमें से 1777 सड़कें, लंबाई 8140 कि.मी. पूर्ण की गई है तथा ृण्815.42 करोड़ व्यय किया जा चुका है।
  • वर्ष 2016 - 17 में 478 सड़कें, लंबाई 2040 कि.मी., राशि 377 करोड़ की निविदा आमंत्रित है।
  • वर्ष 2016 - 17 में नवीनीकरण एवं संधारण हेतु कुल राशि 682.21 करोड़ की मांग की गयी थी, जिसमें राज्य शासन द्वारा मात्र ृण्199.00 करोड़ का प्रावधान किया गया है। समुचित संधारण एवं निर्मित सड़कों के रख-रखाव हेतु यह राशि अति आवश्यक है, इसके लिए अनुपूरक बजट में रखने हेतु प्रस्तावित किया गया है।